गिलोय के क्या फायदे हैं?

क्या होता है गिलोय :

गिलोय की बेल बहुवर्षिय होती है और इसके पत्ते पान के पत्ते की तरह होती हैं जिन में कैल्शि‍यम, प्रोटीन, फॉस्फोरस पर्याप्त मात्रा में होता है | गिलोय के तनों में स्टार्च की अच्छी मात्रा पाई जाती है | बस यही गिलोय (अमृता) की पहचान है | गिलोय का प्रयोग आयुर्वेद में बहुत सी दवा बने में किया जाता है | यह इम्यून सिस्टम को बूस्ट करने का काम करती है और एक अच्छा पावर ड्रिंक भी है | गिलोय इतनी गुणकारी है की आयुर्वेद में इसे अमृता कहा गया है और ये ज्वर यानि बुखार में बहुत अच्छा लाभ करती है | गिलोय जिस वृक्ष को अपना आधार बनती है उसके गुण धारण कर लती है | जैसे नीम पर होगी तो नीम के गुण लती है और अगर जामुन पर है तो जामुन के गुण लती है | बुखार और अन्य बीमारयों में नीम की गिलोय अच्छी मानी जाती है | गिलोय तीनो दोषो (वात, कफ और पित्त) को संतुलित करती है |

See also  बारिश में बीमारियाँ क्यों बढ़ जाती हैं ?

गिलोय के इन फायदों को जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे:

1. अगर आपको एनीमिया है तो गिलोय के पत्तों का इस्तेमाल करना आपके लिए बहुत फायदेमंद रहेगा. गिलोय खून की कमी दूर करने में सहायक है. इसे घी और शहद के साथ मिलाकर लेने से खून की कमी दूर होती है.

2. पीलिया के मरीजों के लिए गिलोय लेना बहुत ही फायदेमंद है. कुछ लोग इसे चूर्ण के रूप में लेते हैं तो कुछ इसकी पत्त‍ियों को पानी में उबालकर पीते हैं. अगर आप चाहें तो गिलोय की पत्त‍ियों को पीसकर शहद के साथ मिलाकर भी ले सकते हैं. इससे पीलिया में फायदा होता है और मरीज जल्दी स्वस्थ हो जाता है.

See also  त्वचा के लिए सबसे फायदेमंद तेल कौनसा है?

3. कुछ लोगों को पैरों में बहुत जलन होती है. कुछ ऐसे भी होते हैं जिनकी हथेलियां हमेशा गर्म बनी रहती हैं. ऐसे लोगों के लिए गिलोय बहुत फायदेमंद है. गिलोय की पत्त‍ियों को पीसकर उसका पेस्ट तैयार कर लें और उसे सुबह-शाम पैरों पर और हथेलियों पर लगाएं. अगर आप चाहें तो गिलोय की पत्त‍ियों का काढ़ा भी पी सकते हैं. इससे भी फायदा होगा.

4. अगर आपके कान में दर्द है तो भी गिलोय की पत्त‍ियों का रस निकाल लें. इसे हल्का गुनगुना कर लें. इसकी एक-दो बूंद कान में डालें. इससे कान का दर्द ठीक हो जाएगा.

5. पेट से जुड़ी कई बीमारियों में गिलोय का इस्तेमाल करना फायदेमंद होता है. इससे कब्ज और गैस की प्रॉब्लम नहीं होती है और पाचन क्रिया भी दुरुस्त रहती है.

See also  क्या आप तिल के तेल के गुणों के बारे जानते हैं?

6. गिलोय का इस्तेमाल बुखार दूर करने के लिए भी किया जाता है. अगर बहुत दिनों से बुखार है और तापमान कम नहीं हो रहा है तो गिलोय की पत्त‍ियों का काढ़ा पीना फायदेमंद रहेगा. यूं तो गिलोय पूरी तरह सुरक्षि‍त है फिर भी एक बार डॉक्टर से परामर्श जरूर ले लें.

Leave a Reply

%d bloggers like this: