अँधेरे में एक आवाज
अँधेरे में एक आवाज

अँधेरे में एक आवाज है
अँधेरे को
रह-रह कर बेधती

अँधेरे में तुम हो
अँधेरे से लड़ती

तुम्हारे होने को
झकझोरता हुआ बार-बार
मैं हूँ अँधेरे में

हम सभी हैं
अँधेरे में
और अँधेरे में
अँधेरा है
एक आवाज के साथ

See also  मदाम आइ लव यू... | रति सक्सेना

Leave a comment

Leave a Reply