Kaddu Katega Lyrics | R.. Rajkumar | Antara Mitra

Kaddu Katega Lyrics in Hindi [कद्दू कटेगा तो सब में बटेगा ]x ४ जो मन बक संदूक में बन्दूक छुपाई केनीयत में मोहब्बत कि ज़रा भूख मिलाई केसुनसान से पिछवाड़े में जो तंग गली हैउस तंग से गलियारे में माशूक़ बुलाई लेमेल तन के बदन से धुलेगीआबरू के सिलाई खुलेगीशर्म का भी लिफाफा फटेगा कद्दू … Read more