जुकाम के देशी उपाय

जुकाम के देशी उपाय~

जुकाम होने पर जो लोग उसे रोकने के लिए कोई भी एलोपैथ ( अंग्रेजी ) दवा खाते हैं , समझो आप दमारोग को आवाजें देकर बुला रहे हैं

आपने अनुभव किया भी होगा कि- चाहे एक गोली भी आपने ली हो उसके ठीक चार घण्टे बाद जुकाम का पानी गरिष्ठ कफ के रूप में कन्वर्ट हो जाता है ।

याद रहे – संसार में एक भी जुकाम का मरीज ऐसा न मिलेगा जिसने जुकाम होने पर एलोपैथ (अंग्रेजी) की दवा खाई हो और उसे दमा न हुआ हो । ये एकदम टेक्निकल घटनाक्रम है । बायोलॉजी के शुद्ध गुणा-भाग की तरह है ।

See also  डिप्रेशन बीमारी के क्या लक्षण होते हैं?

तो क्या करें ?- भारतीय आयुर्वेद अपनाएं ।

पंसारी की दूकान से 5 रूपये का सुहागा लाकर तवे पर भुन लें । चूरा सा करके भूनें । मक्की के दानें की तरह फूल जाएगा । 1/2 चम्मच जितना सुहागा आप गर्म पानी या गर्म दूध से ले लें ।10 मिनिट बाद एक बून्द भी पानी नाक से नहीं आएगा ।

See also  शुगर के प्रमुख लक्षण क्या हैं?

अंग्रेजी गोली से ज्यादा काम करेगा । आपको गजब की राहत मिलेगी ।कच्चा सुहागा फिटकरी जैसा होता है । वह अंदर जाकर जुकाम के पानी की संगठनात्मक इकाई को फ़ाड़ देता है । दिन में तीन चार बार इसे लें । शाम तक जुकाम ठीक हो जाएगा ।

( यह पाँच रूपये का सुहागा फूल कर इतना हो जाएगा कि एक दो साल तक न खत्म होगा और न खराब होगा )

धन्यवाद

Leave a Reply

%d bloggers like this: