जीने की इच्छा का ताप | प्रतिभा कटियारी
जीने की इच्छा का ताप | प्रतिभा कटियारी

जीने की इच्छा का ताप | प्रतिभा कटियारी

जीने की इच्छा का ताप | प्रतिभा कटियारी

गणित के पास नहीं है
जीवन के सवालों के हल
इसलिए अपने सवालों के साथ
बैठना किसी नदी के किनारे
या खो जाना किसी रेवड़ में
बीच सड़क पे नाचने में भी कोई उज्र नहीं
न जुर्म है आधी रात को
जोर से चिल्लाकर सोए हुए शहर की
नींद उखाड़ फेंकने में
बस कि खुद को पल-पल मरते हुए
मत देखना चुपचाप
अपना हाथ थामना जोर से
और जिंदगी के सीने पे रख देना
जीने की इच्छा का ताप
जिंदगी धमनियों में बहने लगेगी
आहिस्ता-आहिस्ता…

Pratibha Katiyar Stories / Poems

हरा | प्रतिभा कटियारी

हरा | प्रतिभा कटियारी हरा | प्रतिभा कटियारी कुछ जो नहीं बीततासमूचा बीतने के बाद भीआमद की आहटें नहीं ढक पातीइंतजार का रेगिस्तानबाद भीषण बारिशों के भीबाँझ ही रह जाता हैधरती का कोई कोनाबेवजह हाथ से छूटकर टूट जाता हैचाय का प्यालासचमुच, क्लोरोफिल का होनाकाफी नहीं होता पत्तियों कोहरा रखने के लिए… See also  ईश्वर […]

हत्यारे की आँख का आँसू और तुम्हारा चुंबन सुनो | प्रतिभा कटियारी

हत्यारे की आँख का आँसू और तुम्हारा चुंबन सुनो | प्रतिभा कटियारी हत्यारे की आँख का आँसू और तुम्हारा चुंबन सुनो | प्रतिभा कटियारी सुनो,बहुत तेज आँधियाँ हैंइतनी तेज कि अगरये जिस्म को छूकर भी गुजर जाएँतो जख्मी होना लाजिमी हैंऔर वो जिस्मों को ही नहींसमूची जिंदगियों को छूकर निकल रही हैंउन्हें निगल रही हैंना… […]

सौंदर्य | प्रतिभा कटियारी

सौंदर्य | प्रतिभा कटियारी जबसे समझ लिया सौंदर्य का असल रूपतबसे उतार फेंके जेवरात सारेन रहा चाव, सजने-सँवरने कान प्रशंसाओं की दरकार ही रहीनदी के आईने में देखी जो अपनी ही मुस्कानतो उलझे बालों में ही सँवर गईखेतों में काम करने वालियों सेमिलाई नजरतेज धूप को उतरने दिया जिस्म परन, कोई सनस्क्रीन भी नहींरोज साँवली […]

सिर्फ तुम्हारा खयाल | प्रतिभा कटियारी

सिर्फ तुम्हारा खयाल | प्रतिभा कटियारी खिला देता है हजारों गुलाबबहा देता कल कल करती नदियाँसदियों की सूखी, बंजर जमीन परतुम्हारा खयालकोयल को कर देता है बावलाऔर वो बेमौसम गुंजानेलगती है आकाशटेरती ही जाती हैकुहू कुहू कुहू कुहूतुम्हारा खयालहथेलियों पर उगाता हैसतरंगा इंद्रधनुषकाँधे पर आ बैठते हैं तमाम मौसमताकते हैं टुकुर-टुकुरखिलखिलाती हैं मोगरे की कलियाँबेहिसाबहालाँकि […]

सुनो, मैं तुम तक पहुँचना चाहती हूँ… | प्रतिभा कटियारी

सुनो, मैं तुम तक पहुँचना चाहती हूँ… | प्रतिभा कटियारी सुनो, मैं तुम तक पहुँचना चाहती हूँतुम्हारे तसव्वुर को हथेली पर लेकरहर रात निकल पड़ता है मेरा मनदहलीज के उस पार…मैं तुम्हारे शहर की हवाओं मेंघुल जाना चाहती हूँ,तुम्हारे कंधे पर गिरने वाली ओसबनना चाहती हूँजिन रास्तों पर भागते-फिरते हो तुममैं उन रास्तों के सीने […]

शहर लंदन | प्रतिभा कटियारी

शहर लंदन | प्रतिभा कटियारी शहर लंदन | प्रतिभा कटियारी एक शहर बारिश की मुट्ठियों मेंधूप का इंतजार बचाता हैथेम्स नदी की हथेलियों पे रखता हैशहर को सींचने की ताकीदनिहायत खूबसूरत पुल कहते हैंपार मत करो मुझे, प्यार करोकला दीर्घाओं और राजमहल के बाहरलगता है कलाओं का जमघटएक बच्ची फुलाती है बड़ा सा गुब्बाराकई वहम […]

शब्द भर ‘ठीक’ | प्रतिभा कटियारी

शब्द भर ‘ठीक’ | प्रतिभा कटियारी शब्द भर ‘ठीक’ | प्रतिभा कटियारी ‘ठीक’ कहने से पहले जाँच लेना खुद को ठीक सेकि कहीं ‘अठीक’ साथ चिपक न जाएकहे गए ‘ठीक’ की पीठ पर‘ठीक’ को सिर्फ शब्द भर बना रहने देनाउसे अपनी मुस्कुराहटों से सजाना, सँवरनाऔर जो इस ठीक से बचा हुआ सच है नउदास, तन्हा, […]

वही बात | प्रतिभा कटियारी

वही बात | प्रतिभा कटियारी वही बात | प्रतिभा कटियारी उनके पास थीं बंदूकेंउन्हें बस कंधों की तलाश थी,उन्हें बस सीने चाहिए थेउनके हाथों में तलवारें थीं,उनके पास चक्रव्यूह थे बहुत सारेवे तलाश रहे थे मासूम अभिमन्युउनके पास थे क्रूर ठहाकेऔर वीभत्स हँसीवे तलाश रहे थे द्रौपदीउन्होंने हमें ही चुनाहमें मारने के लिएहमारे सीने परहमसे […]

रोने के लिए आत्मा को निचोड़ना पड़ता है | प्रतिभा कटियारी

रोने के लिए आत्मा को निचोड़ना पड़ता है | प्रतिभा कटियारी रोने के लिए आत्मा को निचोड़ना पड़ता है | प्रतिभा कटियारी तुमने रोना भी नहीं सीखा ठीक सेऐसे उदास होकर भी कोई रोता है क्यायूँ बूँद-बूँद आँखों से बरसना भीकोई रोना हैतुम इसे दुख कहते होन, ये दुख नहींरोने के लिए आत्मा को निचोड़ना […]

Loading…

Something went wrong. Please refresh the page and/or try again.


आपका गानों की दुनिया में स्वागत है. ये Website उन लोगो के लिए है जो गानों से प्यार करते है और हर Songs के Lyrics की गहराईयो को समझते है.

This is a place to get the latest and evergreen popular Hit songs, lyrics were written in Hindi font from filmy and non-filmy hit songs.

HindiAdda.com is now on Facebook, Youtube, and Twitter. Follow us and Stay Updated

Just Added. You May like it

मीराबाई चानू की टोक्यो ओलंपिक जीत की नकल करता बच्चा; ऑनलाइन दिल पिघला देता है

भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने भारत को गौरवान्वित किया टोक्यो ओलंपिक में रजत पदक, खेलों में देश का पहला पदक मणिपुर की एथलीट ने न केवल ऑनलाइन ख्याति अर्जित की, बल्कि उसने देश भर की हजारों लड़कियों को भी प्रेरित किया। अब सोशल मीडिया पर चानू की जीत के पल की नकल करती एक छोटी बच्ची […]

आंध्र के व्यक्ति ने 5वीं पुण्यतिथि पर कुत्ते की कांस्य प्रतिमा लगाई

आंध्र प्रदेश के रहने वाले एक व्यक्ति ने अपने मृत कुत्ते के लिए प्यार का इजहार करने में और आगे बढ़कर उसकी पुण्यतिथि पर कुत्ते की एक कांस्य प्रतिमा स्थापित की। आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले के सुनकारा ज्ञान प्रकाश राव ने अपने कुत्ते की 5वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में एक कांस्य प्रतिमा लगाई। See […]

सब्जी विक्रेता की गाढ़ी कमाई को चूहों ने कुतर दिया, तेलंगाना के मंत्री ने की मदद की पेशकश

एक सब्जी विक्रेता, जो अपने पेट की सर्जरी के लिए बचाए गए पैसे को चूहों द्वारा चबाने के बाद दिल टूट गया था, को तेलंगाना के एक मंत्री से मदद मिली है। महबूबाबाद जिले के वेमुनूर गाँव के निवासी रेड्या नाइक ने चार साल पहले ट्यूमर का पता चलने के बाद अपने इलाज के लिए […]

जया पार्वती व्रत | Jaya Parvati Vrat Katha, जानिये पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

यह व्रत 5 दिनों शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी से शुरू होकर सावन महीने के कृष्ण पक्ष की तृतीया तक चलती है। इस बार 22 जुलाई से 26 जुलाई तक चलेगा व्रत। इस व्रत को अविवाहित महिलाएं पति तथा विवाहित महिलाएं पति के दीर्घायु के लिए रखती है। आषाढ़ महीने के शुक्लपक्ष की त्रयोदशी तिथि पर […]

दुनिया भर के लोग नाश्ते में क्या खाते हैं

दुनिया भर में, ‘नाश्ता’ एक नए दिन की शुरुआत से जुड़ी एक महत्वपूर्ण सांस्कृतिक परंपरा है। क्योंकि ‘नाश्ता’ इतना महत्वपूर्ण भोजन है, कई देशों ने प्रत्येक दिन की शुरुआत करने के लिए अपने स्वयं के अनूठे व्यंजन विकसित किए हैं। अमेरिका में नाश्ता: अंडे, अंग्रेजी मफिन, टोस्ट, अनाज, चाय, कॉफी, दूध, बेकन या सॉसेज, हैश […]

आषाढ़ी एकादशी महत्व, स्टेटस, – Ashadhi Ekadashi

आषाढ़ी एकादशी को देवशयनी एकादशी, हरिशयनी एकादशी, शयनी एकादशी आदि नामों से जाना जाता है। आषाढ़ी एकादशी का व्रत बहुत उत्तम माना जाता है, इस पवित्र दिन से भगवान विष्णु क्षीर समुद्र में चार माह तक शयन करते हैं। आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को आषाढ़ी एकादशी कहा जाता है। हिन्दू धर्म में […]

Join the Conversation

1 Comment

Leave a comment

Leave a Reply