जवाब की कीमत | कृष्ण कुमार

जवाब की कीमत | कृष्ण कुमार – Javab Ki Kimat

जवाब की कीमत | कृष्ण कुमार

एक विशालकाय हाथ उसे अपनी गर्दन की तरफ आता दिखा। साथ ही कानों में इतनी तेज आवाज आई जैसे कोई दैवी शक्ति आकाशवाणी कर रही हो :

”तुम्‍हारे विचार से इस सबके लिए दोषी कौन है?”

सवाल कुछ अटपटा था, मगर इतना ज्‍यादा सुना हुआ था कि उत्‍तर देते हुए उसे बहुत अड़चन नहीं हुई, उसने पूछने वाले की आवाज का मुकाबला करने के लिए चिल्‍लाकर कहा, ”मैं सोचता हूँ कि इस देश की जनता ही सबसे ज्‍यादा दोषी है। वह रूढ़िवादी, अंधविश्‍वासी, मूर्तिपूजक और मूर्ख है। उसी की वजह से देश प्रगति नहीं कर पा रहा है।”

विशालकाय हाथ इस उत्‍तर से संतुष्‍ट नहीं हुआ। वह कुछ और पास आया और फिर से आवाज आई :

”प्रश्‍न तुमने सही ढंग से पकड़ा, मगर उत्‍तर देने में संकोच कर गए। तुम जो सोचते हो, निर्भय कहो।”

See also  कचरा फैक्ट्री | अशोक कुमार

यह सुनते हुए उसने विशालकाय हाथ को अपनी गर्दन के बिल्‍कुल करीब महसूस किया। पहली बार शब्‍द गले में फंस गए। फिर दूसरी बार कोशिश करके वह बोला, ”अगर आप सही जानना चाहते हों तो सुनिए, इस सारी गड़बड़ी का दोष पूंजीपतियों को है जो अपने ऐशी-आराम के लिए लोगों का शोषण करते हैं। उनके कारण ही देश में कुछ नहीं हो पाता।”

विशालकाय हाथ इस उत्‍तर से भी संतुष्‍ट नहीं हुआ। वह अब गर्दन के ठीक सामने आ गया। साथ में आवाज आई :

”तुम अब भी कुछ छिपा रहे हो। साफ बोलो कि इस अव्‍यवस्‍था का आधार कहाँ है?”

इस बार का प्रश्‍न अधिक पैना था। हालाँकि‍ विशालकाय हाथ गर्दन के बहुत पास आ जाने से उसकी घबराहट बढ़ गई थी, पर सवाल अपने मिजाज के अनुकूल होने से उत्‍तर गोया अपने-आप निकल गया, ”जी हाँ, इस सारी अव्‍यवस्‍था का दोष व्‍यवस्‍था को है, जो इस मुल्‍क की गंदी राजनीति के माध्‍यम से जिंदगी के छोटे-से-छोटे अंग में घुस गई है। व्‍यवस्‍था के पोषक ही इस देश के असली दुश्‍मन है।”

See also  क्षमा करो हे वत्स | देवेंद्र

विशालकाय हाथ इस उत्‍तर से भी संतुष्‍ट नहीं हुआ। इस बार गर्दन को अपनी गिरफ्त में लेकर बोला :

”अब भी मौका है। तुम लगातार बात बनाने की कोशिश कर रहे हो। सच-सच बोलो कि तुम्‍हारी निगाह में बुरा कौन है?”

हाथ की लपेट उसे अपनी गर्दन के पोर-पोर में महसूस हो रही थी। आसन्‍न मृत्‍यु से वह घबराया जरूर, पर साथ ही सटीक जवाब देने के लिए उसने विवशता का भी अनुभव किया। वह बोला, ”इस वक्‍त मेरे असली दुश्‍मन आप ही दिखते हैं। कहिए, यह सच…..”

See also  अवांतर प्रसंग

वाक्‍य पूरा हो सकने से पहले विशालकाय हाथ उसका टेंटुआ दबा चुका था और हवा में अट्टहास के साथ सुनाई पड़ रहा था :

”हाँ, इस बार तुम बिल्‍कुल सच बोले।”

Download PDF (जवाब की कीमत )

जवाब की कीमत – Javab Ki Kimat

Download PDF: Javab Ki Kimat in Hindi PDF

Leave a Reply

अलग-अलग पोज़ में अवनीत कौर ने करवाया कातिलाना फोटोशूट टीवी की नागिन सुरभि ज्योति ने डीप नेक ब्लैक ड्रेस में बरपया कहर अनन्या पांडे की इन PHOTOS को देख दीवाने हुए नेटिजेंस उर्फी जावेद के बोल्ड Photoshoot ने फिर मचाया बवाल अनन्या पांडे को पिंक ड्रेस में देख गहराइयों में डूबे फैंस Rashmi Desai ने ट्रेडिशनल लुक की तस्वीरों से नहीं हटेगी किसी की नजर ‘Anupamaa’ ब्लू गाउन में, Rupali Ganguly Pics Farhan-Shibani Dandekar Wedding: शुरू हुई हल्दी सेरेमनी Berlin Film Festival: आलिया ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ स्टाइल में PICS अवनीत कौर प्रिंटेड ड्रेस में, बहुत खूबसूरत लग रही हैं Palak Tiwari ने OPEN ब्लेजर में कराया BOLD फोटोशूट साड़ी के साथ फ्लावर प्रिंटेड ब्लाउज़ में आलिया भट्ट
%d bloggers like this: