पानी पीने से हिचकी दूर की जा सकती है

हम सभी को अक्सर हिचकी आती है लेकिन क्यों? ऐसा भी कहा जाता कि जब हमें कोई याद करता है तो हिचकी आती है लेकिन क्या इसकी कोई और वजह भी हो सकती है।

हिचकी हमारे के डायफ़्राम सिकुड़ने से आती है. डायफ़्राम एक माँसपेशी होती है जो छाती के खोखल को हमारे पेट के खोखल से अलग करती है. ये साँस लेने की प्रक्रिया में बड़ी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है. फेफड़ों में हवा भरने के लिए डायफ़्राम का सिकुड़ना ज़रूरी होता है. अब सवाल उठता है कि हिचकी क्यों आती है. होता ये है कि डायफ़्राम को नियंत्रित करने वाली नाड़ियों में कुछ उत्तेजना होती है जिसकी वजह से डायफ़्राम बार बार सिकुड़ता है और हमारे फेफड़े तेज़ी से हवा अंदर खींचते हैं. ऐसा ज़ोर ज़ोर से हँसने, तेज़ मसाले वाला खाना खाने, जल्दी-जल्दी खाने या फिर पेट फूलने से हो सकता है. यानी उत्तेजना का कारण होती है।.

See also  खाँसी दूर करने के लिए कुछ घरेलु नुस्खे बताइयें?

हवा आमतौर पर डकार से बाहर आ जाती है लेकिन कभी-कभी ये खाने की तहों के बीच फँस जाती है. हिचकी इस हवा को बाहर निकालने का उपाय है. हिचकी रोकने के लिए कार्बन डाएऑक्साइड की मात्रा बढ़ाना ज़रूरी है, इसलिए साँस रोकना, धीरे-धीरे पानी पीना कारगर साबित हो सकता है.

See also  चिया बीज खाने के लाभ क्या हैं?