मै यादों का
किस्सा खोलूँ तो,
कुछ दोस्त बहुत
याद आते हैं.

मै गुजरे पल को सोचूँ
तो, कुछ दोस्त
बहुत याद आते हैं.

अब जाने कौन सी नगरी में,
आबाद हैं जाकर मुद्दत से.
मै देर रात तक जागूँ तो ,
कुछ दोस्त
बहुत याद आते हैं.

कुछ बातें थीं फूलों जैसी,
कुछ लहजे खुशबू जैसे थे,
मै शहर-ए-चमन में टहलूँ तो,
कुछ दोस्त बहुत याद आते हैं.

सबकी जिंदगी बदल गयी
एक नए सिरे में ढल गयी

किसी को नौकरी से फुरसत नही
किसी को दोस्तों की जरुरत नही

सारे यार गुम हो गये हैं
“तू” से “तुम” और “आप” हो गये है

मै गुजरे पल को सोचूँ
तो, कुछ दोस्त
बहुत याद आते हैं.

धीरे धीरे उम्र कट जाती है
जीवन यादों की पुस्तक बन जाती है,
कभी किसी की याद बहुत तड़पाती है
और कभी यादों के सहारे ज़िन्दगी कट जाती है …
– किनारो पे सागर के खजाने नहीं आते, फिर जीवन में दोस्त पुराने नहीं आते …

– जी लो इन पलों को हस के दोस्त,
फिर लौट के दोस्ती के जमाने नहीं आते … !!!

…..हरिवंशराय बच्चन

साहित्य

किसका पुण्य बड़ा? बेताल-पच्चीसी सातवीं कहानी

किसका पुण्य बड़ा Kiska Punya Bada? Saatvin Kahani – Betal Pachchisi in Hindi मिथलावती नाम की एक नगरी थी। उसमें गुणधिप नाम का राजा राज करता था। उसकी सेवा करने के लिए दूर देश से एक राजकुमार आया। वह बराबर कोशिश करता रहा, लेकिन राजा से उनकी भेंट न हुई। जो कुछ वह अपने साथ […]

बेताल-पच्चीसी पच्चीसवीं कहानी

Pachchisvin Kahani- Betal Pachchisi in Hindi योगी राजा को और मुर्दे को देखकर बहुत प्रसन्न हुआ। बोला, ‘‘हे राजन्! तुमने   यह कठिन काम करके मेरे साथ बड़ा उपकार किया है। तुम सचमुच सारे राजाओं में श्रेष्ठ हो।’ इतना कहकर उसने मुर्दे को उसके कंधे से उतार लिया और उसे स्नान कराकर फूलों की मालाओं से […]

माँ-बेटी के बच्चों में क्या रिश्ता? बेताल-पच्चीसी चौबीसवीं कहानी

माँ-बेटी के बच्चों में क्या रिश्ता? बेताल-पच्चीसी चौबीसवीं कहानी. Maan-Beti Ke Bachon Mein Kya Rishta ?: Chaubisvin Kahani-Betal Pachchisi किसी नगर में मांडलिक नाम का राजा राज करता था। उसकी पत्नी का नाम चंडवती था। वह मालव देश के राजा की लड़की थी। उसके लावण्यवती नाम की एक कन्या थी। जब वह विवाह के योग्य […]

योगी पहले क्यों रोया, फिर क्यों हँसा? बेताल-पच्चीसी तेईसवीं कहानी

योगी पहले क्यों रोया, फिर क्यों हँसा? बेताल-पच्चीसी तेईसवीं कहानी Yogi Pehle Kyon Roya, Phir Kyon Hans? Teisvin Kahani- Betal Pachchisi in Hindi कलिंग देश में शोभावती एक नगर है। उसमें राजा प्रद्युम्न राज करता था। उसी नगरी में एक ब्राह्मण रहता था, जिसके देवसोम नाम का बड़ा ही योग्य पुत्र था। जब देवसोम सोलह […]

शेर बनाने का अपराधी कौन? बेताल-पच्चीसी बाईसवीं कहानी

शेर बनाने का अपराधी कौन? बेताल-पच्चीसी बाईसवीं कहानी Sher Banane Ka Apradhi Kaun? Baaisvin Kahani- Betal Pachchisi in Hindi कुसुमपुर नगर में एक राजा राज्य करता था। उसके नगर में एक ब्राह्मण था, जिसके चार बेटे थे। लड़कों के सयाने होने पर ब्राह्मण मर गया और ब्राह्मणी उसके साथ सती हो गयी। उनके रिश्तेदारों ने […]

सबसे ज्यादा प्रेम में अंधा कौन? बेताल-पच्चीसी इक्कीसवीं कहानी

सबसे ज्यादा प्रेम में अंधा कौन? बेताल-पच्चीसी इक्कीसवीं कहानी Sabse Jyada Prem Mein Andha Kaun? Ikkisvin Kahani- Betal Pachchisi in Hindi विशाला नाम की नगरी में पदमनाभ नाम का राजा राज करता था। उसी नगर में अर्थदत्त नाम का एक साहूकार रहता था। अर्थदत्त के अनंगमंजरी नाम की एक सुन्दर कन्या थी। उसका विवाह साहूकार […]

बालक क्यों हँसा? बेताल-पच्चीसी बीसवीं कहानी

बालक क्यों हँसा? बेताल-पच्चीसी बीसवीं कहानी Balak Kyon Hansa? Beesvin Kahani- Betal Pachchisi in Hindi चित्रकूट नगर में एक राजा रहता था। एक दिन वह शिकार खेलने जंगल में गया। घूमते-घूमते वह रास्ता भूल गया और अकेला रह गया। थक कर वह एक पेड़ की छाया में लेटा कि उसे एक ऋषि-कन्या दिखाई दी। उसे […]

पिण्ड दान का अधिकारी कौन? बेताल-पच्चीसी उन्नीसवीं कहानी

पिण्ड दान का अधिकारी कौन? बेताल-पच्चीसी उन्नीसवीं कहानी Pind daan Ka Adhikari Kaun? Unnisvin Kahani- Betal Pachchisi in Hindi वक्रोलक नामक नगर में सूर्यप्रभ नाम का राजा राज करता था। उसके कोई सन्तान न थी। उसी समय में एक दूसरी नगरी में धनपाल नाम का एक साहूकार रहता था। उसकी स्त्री का नाम हिरण्यवती था […]

विद्या क्यों नष्ट हुई? बेताल-पच्चीसी अठारहवीं कहानी

विद्या क्यों नष्ट हुई? बेताल-पच्चीसी अठारहवीं कहानी Vidya Kyon Nasht Hui? Atharahvin Kahani-Betal Pachchisi in Hindi उज्जैन नगरी में महासेन नाम का राजा राज करता था। उसके राज्य में वासुदेव शर्मा नाम का एक ब्राह्मण रहता था, जिसके गुणाकर नाम का बेटा था। गुणाकर बड़ा जुआरी था। वह अपने पिता का सारा धन जुए में […]

अधिक साहसी कौन? बेताल-पच्चीसी सत्रहवीं कहानी

अधिक साहसी कौन? बेताल-पच्चीसी सत्रहवीं कहानी Adhik Sahasi Kaun? Satrahvin Kahani – Betal Pachchisi in Hindi चन्द्रशेखर नगर में रत्नदत्त नाम का एक सेठ रहता था। उसके एक लड़की थी। उसका नाम था उन्मादिनी। जब वह बड़ी हुई तो रत्नदत्त ने राजा के पास जाकर कहा कि आप चाहें तो उसे ब्याह कर लीजिए। राजा […]

सबसे बड़ा काम किसका? बेताल-पच्चीसी सोलहवीं कहानी

सबसे बड़ा काम किसका? बेताल-पच्चीसी सोलहवीं कहानी Sabse Bada Kaam Kiska? Solahvin Kahani – Betal Pachchisi in Hindi हिमाचल पर्वत पर गंधर्वों का एक नगर था, जिसमें जीमूतकेतु नामक राजा राज करता था। उसके एक लड़का था, जिसका नाम जीमूतवाहन था। बाप-बेटे दोनों भले थे। धर्म-कर्म मे लगे रहते थे। इससे प्रजा के लोग बहुत […]

चुराई चीज़ पर किसका अधिकार? बेताल-पच्चीसी पन्द्रहवीं कहानी

चुराई चीज़ पर किसका अधिकार? बेताल-पच्चीसी पन्द्रहवीं कहानी Churai Cheez Par Kiska Adhikar? Pandrahvin Kahani- Betal Pachchisi in Hindi नेपाल देश में शिवपुरी नामक नगर मे यशकेतु नामक राजा राज करता था। उसके चन्द्रप्रभा नाम की रानी और शशिप्रभा नाम की लड़की थी। जब राजकुमारी बड़ी हुई तो एक दिन वसन्त उत्सव देखने बाग़ में […]

चोर ज़ोर-ज़ोर से क्यों रोया और फिर हँसा? बेताल-पच्चीसी चौदहवीं कहानी

चोर ज़ोर-ज़ोर से क्यों रोया और फिर हँसा? बेताल-पच्चीसी चौदहवीं कहानी Chor Zor Zor Se Kyon Roya Aur Phir Hansa? Chaudahvin Kahani- Betal Pachchisi in Hindi अयोध्या नगरी में वीरकेतु नाम का राजा राज करता था। उसके राज्य में रत्नदत्त नाम का एक साहूकार था, जिसके रत्नवती नाम की एक लड़की थी। वह सुन्दर थी। […]

अपराधी कौन? बेताल-पच्चीसी तेरहवीं कहानी

अपराधी कौन? बेताल-पच्चीसी तेरहवीं कहानी Apradhi Kaun? Terahvin Kahani- Betal Pachchisi in Hindi बनारस में देवस्वामी नाम का एक ब्राह्मण रहता था। उसके हरिदास नाम का पुत्र था। हरिदास की बड़ी सुन्दर पत्नी थी। नाम था लावण्यवती। एक दिन वे महल के ऊपर छत पर सो रहे थे कि आध रात के समय एक गंधर्व-कुमार […]

दीवान की मृत्यु क्यूँ? बेताल-पच्चीसी बारहवीं कहानी

दीवान की मृत्यु क्यूँ? बेताल-पच्चीसी बारहवीं कहानी Deewan Ki Mrityu Kyun? Barahvin Kahani- Betal Pachchisi in Hindi किसी ज़माने में अंगदेश मे यशकेतु नाम का राजा था। उसके दीर्घदर्शी नाम का बड़ा ही चतुर दीवान था। राजा बड़ा विलासी था। राज्य का सारा बोझ दीवान पर डालकर वह भोग में पड़ गया। दीवान को बहुत […]

आपका गानों की दुनिया में स्वागत है. ये Website उन लोगो के लिए है जो गानों से प्यार करते है और हर Songs के Lyrics की गहराईयो को समझते है.

This is a place to get the latest and evergreen popular Hit songs, lyrics were written in Hindi font from filmy and non-filmy hit songs.

HindiAdda.com is now on Facebook, Youtube, and Twitter. Follow us and Stay Updated

Just Added. You May like it

मीराबाई चानू की टोक्यो ओलंपिक जीत की नकल करता बच्चा; ऑनलाइन दिल पिघला देता है

भारोत्तोलक मीराबाई चानू ने भारत को गौरवान्वित किया टोक्यो ओलंपिक में रजत पदक, खेलों में देश का पहला पदक मणिपुर की एथलीट ने न केवल ऑनलाइन ख्याति अर्जित की, बल्कि उसने देश भर की हजारों लड़कियों को भी प्रेरित किया। अब सोशल मीडिया पर चानू की जीत के पल की नकल करती एक छोटी बच्ची […]

आंध्र के व्यक्ति ने 5वीं पुण्यतिथि पर कुत्ते की कांस्य प्रतिमा लगाई

आंध्र प्रदेश के रहने वाले एक व्यक्ति ने अपने मृत कुत्ते के लिए प्यार का इजहार करने में और आगे बढ़कर उसकी पुण्यतिथि पर कुत्ते की एक कांस्य प्रतिमा स्थापित की। आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले के सुनकारा ज्ञान प्रकाश राव ने अपने कुत्ते की 5वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष्य में एक कांस्य प्रतिमा लगाई। See […]

सब्जी विक्रेता की गाढ़ी कमाई को चूहों ने कुतर दिया, तेलंगाना के मंत्री ने की मदद की पेशकश

एक सब्जी विक्रेता, जो अपने पेट की सर्जरी के लिए बचाए गए पैसे को चूहों द्वारा चबाने के बाद दिल टूट गया था, को तेलंगाना के एक मंत्री से मदद मिली है। महबूबाबाद जिले के वेमुनूर गाँव के निवासी रेड्या नाइक ने चार साल पहले ट्यूमर का पता चलने के बाद अपने इलाज के लिए […]

जया पार्वती व्रत | Jaya Parvati Vrat Katha, जानिये पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

यह व्रत 5 दिनों शुक्ल पक्ष की त्रयोदशी से शुरू होकर सावन महीने के कृष्ण पक्ष की तृतीया तक चलती है। इस बार 22 जुलाई से 26 जुलाई तक चलेगा व्रत। इस व्रत को अविवाहित महिलाएं पति तथा विवाहित महिलाएं पति के दीर्घायु के लिए रखती है। आषाढ़ महीने के शुक्लपक्ष की त्रयोदशी तिथि पर […]

दुनिया भर के लोग नाश्ते में क्या खाते हैं

दुनिया भर में, ‘नाश्ता’ एक नए दिन की शुरुआत से जुड़ी एक महत्वपूर्ण सांस्कृतिक परंपरा है। क्योंकि ‘नाश्ता’ इतना महत्वपूर्ण भोजन है, कई देशों ने प्रत्येक दिन की शुरुआत करने के लिए अपने स्वयं के अनूठे व्यंजन विकसित किए हैं। अमेरिका में नाश्ता: अंडे, अंग्रेजी मफिन, टोस्ट, अनाज, चाय, कॉफी, दूध, बेकन या सॉसेज, हैश […]

आषाढ़ी एकादशी महत्व, स्टेटस, – Ashadhi Ekadashi

आषाढ़ी एकादशी को देवशयनी एकादशी, हरिशयनी एकादशी, शयनी एकादशी आदि नामों से जाना जाता है। आषाढ़ी एकादशी का व्रत बहुत उत्तम माना जाता है, इस पवित्र दिन से भगवान विष्णु क्षीर समुद्र में चार माह तक शयन करते हैं। आषाढ़ मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी को आषाढ़ी एकादशी कहा जाता है। हिन्दू धर्म में […]

Leave a comment

Leave a Reply